Abhitabh Bachchan Biography In Hindi

Abhitabh Bachchan Biography In Hindi

बॉलीवुड के शहंशाह कहे जाने वाले Big B देश के सबसे जाने माने वाले बॉलीवुड एक्टर है Bollywood Indistry के शहंशाह अभिताभ बच्चन की Biography of Amitabh Bachchan in Hindi में आज हम जानेंगे अभिताभ बच्चन के परदे के बिचे की रियल लाइफ के अनकहे पहलु |

Abhitabh Bachchan Biography In Hindi

Name  – Abhitabh Harivansh ray Bachchan
जन्म  – 11 अक्टूबर, 1942 इलाहाबाद
पिता  – Harivansh ray Bachchan
माता  – Tezi Bachchan
पत्नी  – अभिनेत्री Jaya Bhadudi से हुआ

Nick Name(उपनाम):-

Big B, मुन्ना, ऐंग्री यंग मैन,  बॉलीवुड के शहंशाह, अमित, एबी सीनियर, वन मैन इंडस्ट्री, सुपरस्टार ऑफ द मिलेनियम, महानायक अमितजी

Bollywood के God :Abhitabh Bachchan

बॉलीवुड में ‘एंग्री यंग मैन’ के नाम से प्रसिद्ध अमिताभ बच्चन की हिंदी फिल्म उद्योग में वही गरिमा है जो भारतीय क्रिकेट के क्षेत्र में सचिन तेंदुलकर की है। अमिताभ बच्चन का जन्म 11 अक्टूबर 1942 को विख्यात कवि हरिवंश राय बच्चन और तेजी बच्चन के घर में हुआ था। उन्होंने अपना फिल्मी करियर 1969 में आई फिल्म ‘सात हिंदुस्तानी’ के साथ शुरू किया था। फिर 1973 में उनकी फिल्म ‘जंजीर’ रिलीज हुई। इस फिल्म में उन्होंने एक नए तरह के नायक की भूमिका में अन्याय करने वाले समूह का सामना किया जिससे इन्हें ‘एंग्री यंग मैन’ की उपाधि मिली। मुंबई आने से पहले अमिताभ ने 1968 में कोलकाता में एक शिपिंग फर्म के साथ काम किया। उन्होंने ऑल इंडिया रेडियो में एक नौकरी के लिए आवेदन किया लेकिन उनकी भारी आवाज के कारण उन्हें कथित तौर पर मना कर दिया गया था वही आवाज अब उनकी हस्ताक्षर (पहचान) बन गयी है।

Big B के जीवन में आया ने जब Turning पॉइंट

अमिताभ बच्चन की जिन्दगी में स्टार बनने के लिए महत्वपूर्ण मोड़ तब आया जब 1973 में आई प्रकाश मेहरा की एक फिल्म में इन्हें एक इंस्पेक्टर का रोल मिला जिसमे इनके किरदार का नाम “ इंस्पेक्टर खन्ना “ था और उस किरदार में अमिताभ एकदम अलग तरह के रोल में थे और साथ ही इनकी भारी आवाज जिसके लिए इन्हें आल इंडिया रेडियो में बोलने वाले के पद के लिए निकाल दिया गया था वही इनकी खासियत भी बनी ऐसे में जनता के लिए अमिताभ का यह रूप बहुत पसंद आने वाला था और इसके बाद बॉलीवुड के एक्शन हीरो और “ अंगरी यंगमैन “ की रूप में एक नई छवि अमिताभ की जनता के बीच में बनी जिसने इन्हें बेहद लोकप्रिय बना दिया |

Abhitabh Bachchan Blockbuster Movies

        अमिताभ जी ने अभिमान, कभी कभी, अग्निपथ, शराबी, नमक हलाल जैसी सुपरहिट फ़िल्में दी| अमिताभ जी ने अपने फ़िल्मी करियर में बहुत उतार चढ़ाव देखे, शुरुवात में उनको देख सब यही कहते थे कि इतना लम्बा, दुबला पतला लड़का कुछ नहीं कर सकता| उनकी आवाज को लेकर भी लोग बोलते थे, और आज वही आवाज देश की आवाज बन गई, एक्टिंग के अलावा अमिताभ जी ने कई फिल्मों में सूत्रधार की भूमिका निभाई है| इसके अलावा अमिताभ जी ने कई फिल्मों में गाने भी गाये है| 1984-1987 तक अमिताभ जी ने पॉलिटिक्स में राजीव गाँधी के साथ खड़े रहे| इसके बाद वे फिल्मों में आये और 1990 में अग्निपथ के साथ नेशनल अवार्ड जीता| इसके बाद अमिताभ जी ने प्रोडक्शन हाउस खोला, और कुछ फ़िल्में भी की लेकिन ये सब फ्लॉप होती गई, इस समय तीनों खान का बोल बाला था| जिसके चलते अमिताभ जी ने फिल्मों से दुरी ही बना ली|

Abhitabh Bachchan Married With Jaya

Abhitabh Bachchan Biography In Hindi

        अमिताभ बच्चन का विवाह 3 जून, 1973 को अभिनेत्री जया भादुड़ी से हुआ. अमिताभ बच्चन और जया भादुडी की दो श्वेता बच्चन नंदा और अभिषेक बच्चन संतान हैं.भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी अमिताभ बच्‍चन जी केे अच्‍छेे मित्र थे. अमिताभ बच्‍चन जी की पहली हिट फिल्‍म जंजीर थी. बच्‍चन जी ने फिल्‍मोंं के अलावा टीवी शो कौन बनेगा करोडपति, बिग बोस और आज की रात है जिंदगी जैसे हिट सीरियल भी कियेे हैं. बच्‍चन जी इलाहाबाद लोक सभा सीट से चुनाव लडा और एच.एन. बहुगुणा को भारी मतों से पराजित किया था. अमिताभ बच्‍चन को भारत सरकार द्वारा वर्ष 2005 में पद्मश्री और पद्म भूषण तथा वर्ष 2015 में पद्म विभूषण से सम्‍मानित किया गया है. अमिताभ की श्रेष्ठ फ़िल्में हैं – आनंद, ज़ंजीर, अभिमान, दीवार, शोले, त्रिशूल, मुकद्दर का सिकंदर, कुली, सिलसिला, अमर अकबर एंथनी, काला पत्थर, अग्निपथ, बाग़बान, ब्लैक और पा आदि है. निर्देशक सत्यजीत रे ने अपनी फिल्म शतरंज के खिलाड़ी में बच्चन की आवाज का इस्तेमाल किया था. अमिताभ बच्‍चन दोनों हाथों से लिख सकते हैं.

        अमिताभ बच्चन की माँ का नाम तेजी बच्चन थी जो कराची के सिख परिवार से थी | वह भी पाश्चात्य विचारो वाली महिला थी लेकिन उन्हें अपनी मान्यताओ पर दृढ़ विश्वास रहा था | उनके माता पिता दोनों अलग अलग सांस्कृतिक पृष्ठभूमि से संबधित थे| अमिताभ बच्चन के माता पिता ने शुरवात में उनका नाम इन्कलाब रखा था| लेकिन हरिवंशराय बच्चन के मित्र सुमित्रानंदन पन्त के सुझाव पर उन्होंने अपने पुत्र का नाम अमिताभ कर दिया जिसका मतलब होता है “एक ऐसा प्रकाश जिसका कभी अंत ना हो “| हालांकि उनका उपनाम श्रीवास्तव था लेकिन अमिताभ के पिता अपनी सभी कविताओं में अपना छोटा नाम बच्चन लिखा करते थे जिसके कारण अमिताभ के आगे भी उन्होंने बच्चन नाम दे दिया |

Abhitabh Bachchan की प्रारम्भिक शिक्षा

Abhitabh Bachchan Biography In Hindi

        कॉलेज में उन्होंने दो विषयों में स्नातकोत्तर डिग्री प्राप्त की | साथ ही साथ अमिताभ ने कॉलेज के रंगमंच “द प्लेयर्स ” में भी भाग लिया | यहा उन्हें अपने अभिनय को निखारने का अवसर मिला और वही से एक महान कलाकार का जन्म हुआ |दिल्ली में कई जगह पर उन्होंने नौकरी की तलाश की परन्तु कही भी उन्हें आशानुरूप नतीजे नही मिले | यहा तक कि आकाशवाणी में भी उन्हें आवाज भारी होने के कारण नौकरी नही मिली | इससे वो बहुत दुखी हुयी | एक दिन बेरोजगारी से हतोत्साहित होकर उन्होंने अपने कॉलेज के मित्रो के साथ कोलकाता जाने का फैसला किया और वहा पर नौकरी ढूँढना जारी रखा | कोलकाता में भी कुछ हाथ ना लगने पर उन्होंने बम्बई में अपनी किस्मत आजमाने का फैसला किया जो उनके जीवन का निर्णायक मोड़ साबित हुआ |

        1970 के दशक से 1980 के दशक की शुरुवात तक अमिताभ बच्चन 100 से अधिक फिल्मों में दिखाई दिये. उस समय हर निर्देशक उनके साथ काम करना चाहता था जिसमे एक निर्देशक प्रकाश मेंहरा भी थे. 1982 में कुली फिल्म की शूटिंग के दौरान एक गंभीर दुर्घटना हो गई थी जिसमे अमिताभ बच्चन के पेट में अंदरूनी चोट आई और वो जिंदगी और मौत के बीच झूल रहे थे. उस समय उनके प्रशंसकों ने उनके ठीक होने के लिए प्रार्थना की. बच्चन दुर्घटना में बच गए. 1990 के दशक में अमिताभ का जादू बॉक्स ऑफिस पर चलना बंद हो गया था. बॉक्स ऑफिस पर उनकी फिल्मे नहीं चल रही थी. आलोचकों ने लिखा है की अमिताभ ने अपने कैरियर को बड़े मियाँ छोटे मियाँ (1998) फिल्म में काम करके बचा लिया गया था. लेकिन 1999 में चार फिल्मे फ्लॉप रहीं और उसकी डूबती हुयी कंपनी एबीसीएल पर 90 करोड़ से अधिक का ऋण हो चूका था जिसको भरने का उनपर बहुत दबाव था. अमिताभ ने अपनी कंपनी ABCL में फिल्म मृत्युदाता बनाई और इसके साथ 1997 में बड़े पर्दे पर वापसी की . 2000 में, उन्होंने ‘कौन बनेगा करोड़पति’ से TV या छोटे परदे पर hosting/मेजबानी करना शुरू किया और इस सीरियल ने बहुत बड़ी सफलता पाई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *