इंटरनेट क्या है और कैसे चलता है इंटरनेट ?

इंटरनेट क्या है ?

दोस्तो सच कहा जाए तो आज की दुनिया इंटरनेट के बिना एक सेकेंड भी नही चल सकती लेकिन क्या कभी आपने सोचा है की Internet Kya Hai इंटरनेट का मालिक कौन है ? और कैसे चलता है इंटरनेट ? इंटरनेट के क्या फायदे है और क्या नुकसान है ? अगर आपने अभी तक इसके बारे मे आज तक नही सोचा की इंटरनेट क्या है और इंटरनेट कैसे चलता है तो आज की पोस्ट मे हम आपको बताएँगे इसी के बारे मे |

इंटरनेट क्या है ?

इंटरनेट के बारे मे जानना क्यो जरूरी है ?

इंटरनेट के बिना आज की दुनिया एक सेकेंड भी नहीं चल सकती है क्यूकी आजकल हमारा काम इंटरनेट के बिना संभव ही नही है | घर से लेकर ऑफिस तक बिना इंटरनेट की दुनिया की कल्पना भी संभव नही है | इंटरनेट एक मायाजाल है इंटरनेट दुनिया का सबसे बड़ा और व्यस्तम नेटवर्क है | इंटरनेट के बारे मे हमे पूरी जानकारी होनी जरूरी है क्यूकी जिस चीज़ का हम इस्तेमाल करते है उसके बारे मे Knowladge होना जरूरी है |

इंटरनेट क्या है ?

सरल शब्दो मे कहा जाए तो इंटरनेट फ़ाइलो का एक मायाजाल है जिसे साधारण बोलचाल की भाषा मे हम इसे इंटरनेट कह सकते है | इंटरनेट Wire के दम से चलता है | इंटरनेट क्या है इसे यदि और आसान शब्दो मे समझा जाए तो ऐसे समझ सकते है की इंटरनेट एक सर्वर के माध्यम से दुनिया के किसी भी कम्प्युटर को आपस मे जोड़ता है | जो सूचनाओ के आदान प्रदान के लिए TCP/IP Protocol के माध्यम से दो कंप्यूटरों के बीच स्थापित सम्बन्ध को internet कहते हैं. इन्टरनेट विश्व का सबसे बड़ा नेटवर्क है |

Internet का Full Form

इंटरनेट का Full Form Interconnected Network है | इंटरनेट से जुड़े हर computers के एक अलग आईपी होती है
IP Address गणितिय संख्याओं का एक Unique Set होता हैं (जैसे 103.194.182.246) जो उस कम्प्युटर की लोकेशन को बताता हैं |

इंटरनेट का मालिक कौन है

इंटरनेट की खोज किसने की यह सटीक बता पाना मुश्किल है क्योकि इंटरनेट की खोज किसी एक व्यक्ति ने नही की |
हजारों लोग और संगठन Internet के मालिक हैं. Internet में कई अलग-अलग Bits और टुकड़े होते हैं, जिनमें से प्रत्येक का एक मालिक होता है। इनमें से कुछ मालिक आपके पास Internet तक पहुंच की गुणवत्ता और स्तर को नियंत्रित कर सकते हैं। वे पूरे सिस्टम के मालिक नहीं हो सकते हैं, लेकिन वे आपके Internet के अनुभव को प्रभावित कर सकते हैं। उदाहरण के लिए “इन्टरनेट सर्विस प्रोवाइडर कम्पनियां“.

Internet की खोज के पीछे कई लोगो का हाथ था. सबसे पहले  लियोनार्ड क्लेरॉक (Leonard Kleinrock )ने Internet बनाने की योजना बनाई बाद में 1962 में J.C.R. Licklider ने उस योजना के साथ, रोबर्ट टेलर (Robert Taylor) की मदद से एक Network बनाया जिसका नाम “ARPANET “ था. ARPANET को  TELNET नाम से 1974  में व्यावसायिक रूप से उपयोग में लाया गया. भारत में Internet 80 के दशक में आया.

इंटरनेट कैसे काम करता हैं – How Does Internet Work in Hindi?

अब प्रश्न यह हैं कि इस विशाल जाल (Internet) से हम जुड़ते कैसे है? मतलब इंटरनेट का काम करने तरीका क्या हैं? इंटरनेट से कम्प्युटर कैसे कनेक्ट होते हैं


सच्चाई यह है कि Internet में कम्प्युटर आपस में जुडे होते है, और यह वैसा ही जैसे हमारे टेलिफोन आपस में जुडे होते है. हमें अपने कम्प्युटर को Internet से जोडने के लिए ‘Internet Service Provider‘ (इंटरनेट सेवा प्रदाता) से इंटरनेट कनेक्शन लेना पडता है.

क्योंकि ISPs Internet से जुडे होते है. यह हमे Internet से जुडने का एक रास्ता प्रदान करते है. जब हमे यह कनेक्शन मिल जाता है तो हम अपने कम्प्युटर को Internet से जोड सकते है. इस कनेक्शन को अपने कम्प्युटर में Cabel या Wireless के माध्यम से Access किया जाता है. जब हम Internet से जुडे होते है तो यह प्रक्रिया ‘ऑनलाईन‘ कहलाता है.

निष्कर्ष :- इस पोस्ट मे हम ने जाना की इंटरनेट क्या है ,इंटरनेट काम कैसे करता है और इंटरनेट का मालिक कौन है | इंटरनेट की खोज किसने की आपको यह पोस्ट कैसी लगी हमे कमेंट बॉक्स मे अवश्य बताए |

“जय हिन्द”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *