पुलवामा हमले के बाद पीएम मोदी ने लिए 5 बड़े फैसले, जानकर कांप उठेगा पाकिस्तान

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में हुए आतंकी हमले में 37 जवान शहीद हो गए। सेना पर हुए इतने बड़े हमले के बाद शुक्रवार को प्रधानमंत्री

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में हुए आतंकी हमले में 37 जवान शहीद हो गए। सेना पर हुए इतने बड़े हमले के बाद शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में सीसीएस की बैठक हुई।

इस बैठक में आतंकवादी हमले की समीक्षा की गई। केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में पीएम मोदी की ओर कई पाकिस्तान को लेकर कई बड़े फैसले लिए गए।

आईए जानते हैं कौन से हैं वो 5 बड़े फैसले

  1. पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा वापस ले लिया गया है। इस फैसले के तहत अभी तक पाकिस्तान को भारत की ओर से ट्रेड में दी जाने वाली छूट बंद हो जाएगी।
  2. विदेश मंत्रालय अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान को अलग-थलग करने के लिए सभी देशों से बात करेगा। दुनिया के सामने पाकिस्तान के आतंकपरस्ती चेहरे का पर्दाफाश किया जाएगा।
  3. 1986 में भारत ने संयुक्त राष्ट्र में आतंकवाद की परिभाषा बदलने के लिए जो प्रस्ताव भी दिया था। उसे पास करवाने के लिए पूरी कोशिश की जाएगी। इस प्रस्ताव को पास करवाने के लिए अन्य देशों पर दबाव बनाया जाएगा।
  4. गृह मंत्री राजनाथ सिंह शनिवार को सर्वदलीय बैठक करेंगे। इस बैठक में राजनाथ सिंह पुलवामा हमले पर विपक्षी पार्टियों से विस्तार में चर्चा करेंगे।
  5. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी आतंकवाद के खिलाफ खुली जंग छेड़ दी है। उन्होंने कहा कि आतंकवादी बहुत बड़ी गलती कर चुके हैं. उन्होंने सेना को खुली छूट दी है।
जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में हुए आतंकी हमले में 37 जवान शहीद हो गए। सेना पर हुए इतने बड़े हमले के बाद शुक्रवार को प्रधानमंत्री

Most फेवरेड नेशन का दर्जा लिया वापस

शुक्रवार सुबह ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की अगुवाई में सुरक्षा मामलों की कैबिनेट समिति की बैठक हुई थी। इस बैठक में फैसला लिया गया है कि पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा वापस ले लिया जाएगा। बैठक के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी अपने बयान में कहा है कि इस हमले से पूरे देश में आक्रोश है, उनका मानना है कि आ’तंकियों ने बहुत बड़ी गलती कर दी है उन्हें इसकी सजा भुगतनी होगी।

सेना अपनाएगी कड़ा रुख

गुरुवार को जैश ए मोहम्मद के आ’तंकी आदिल अहमद डार ने आत्मघाती हमला करते हुए CRPF के काफिले पर हमला कर दिया था। इस हमले में CRPF की पूरी बस को ही उड़ा दिया गया था।

भारतीय सेना द्वारा उरी हमले में मारे गए 18 शहीदों का बदला लेने के लिए उठाया गया सर्जिकल स्ट्राइक जहां देशवासियों के लिए शान का सबब बना, वही कुछ राजनेताओं के बड़बोलेपन ने सर्जिकल स्ट्राइक का वीडियो जारी करने के बयानों के घमासान ने एक नया विवाद खड़ा कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *